Genuine Request of EPS 95 pensioners

JAI   SRI   RAM 

By email         24-1-2024 

To 

Sri Narendra Modi ji , honble Prime Minister of India 

Sri Bhupendra yadav ji, honble union minister of labour and employment 

EPS95 Pension Latest News

Please Press Below to Subscribe.

Smt N Sitharaman ji , honble union minister of finance 

Respected sirs/ madam ji 

We , all  EPS 95 pensioners felt immense pleasure and happiness on Monday with Pran Pratishtan of Bhagvan Ram lalla in Ram Mandir that took place at Ayodhya (U P) in grand manner with all sacred rituals by the honble Prime Minister and others  amidst of thousands of invitees with the voice of Jai Sri Ram and Ram Mandir glittered of illuminations at night staying a memorable historical event in the history of mankind.

Pran  Pratishtan of Ram lalla is  the dawn of  Bhavvay   BHARAT  paving  the way  for the development of welfare nation where justice, equality , freedom  prevails across the barriers of caste , religious community with enlightenment of ideals of humanity. 

 The Shramiks  of  RAM  MANDIR  were showered with flowers in honour by the honble  prime minister respecting their dedicated service in time.

 EPS 95  PENSIONERS, being SHRAMIKS  of  the nation are also to be provided with economic security  honoring their dedicated service  for growth of the nation with no more delay in Ram Rajya by the grant of fair liveable pension by the govt. 

This great event enlivens the life of indians memorizing the past that has stood lesson to the mankind what it teaches us the  DHARMA  of  HUMAN  LIFE  uniting all to live with  NEED  and not on endless material WANTS  to be of no happy for life time. 

 The economic insecurity of EPS 95 pensioners being deprived of financial freedom  with unfair and unliveable pension at minimum and basic level deficient of non linkage of living cost  index (DA) and the liveable minimum pension for qualified pensionable service that has stood unresolved over decades may kindly be settled by the honble govt in order to bring an era of social order of Ram Rajya among more than 75 lakhs pensioners accounted  together of family and dependent children into crores.

The honorable  govt  has understood the life agony of EPS 95 pensioners. 

Now, it is high time that  they are relieved of mental stress of unspeakable economic insecurity and dependency on others with unliveable pension.

 Kindly let the Pran Pratishtan of Ram Lalla in Ram Mandir  at Ayodhya pave  the way  for security of senior citizens against their NEEDS  by the honble govt while taking care of  WANTS  of the citizens and senior citizens  viz  govt machinary, law makers and such other institutions. 

The needs and wants are different, aspired by poor and rich respectively.

The demands of EPS 95 pensioners speak of their only just  NEEDS  and not WANTS  to be met with essentially for survival security. 

   So nothing is left other than economic security of EPS 95 pensioners  to be described by us. 

   Kindly  honour  the SHRAMIKS  of  NATION  by grant of a liveable minimum pension with DA  and govt medical facility as per the demands placed before the honble  govt that would be felt more than that of shower of flowers. 

 The nation  wants  good service system of govt  in education, food supplies , health and job opportunity  among others  abolishing the food rationing system with BPL and APL category ( now outdated )which was  done once in the past  that  created  new era  for social order of Ram Rajya in order that economic system of the nation is felt better secured to all citizens enhancing the good image of the nation at international level.

   With high regards 

Sincerely yours 

ShamRao. G, 

National secretary, 

EPS 95 pensioners coordination committee, 

Bidar, 

karnataka. 

email shamraobidar308@gmail.com 

Ph : 9632885896 

Copy submitted to 

Smt Hemamalani ji, honble member of parliament for favour kind information and needful

HINDI

Translated from the English version.

Please refer to the English version for any clarity

जय श्री राम

ईमेल द्वारा 24-1-2024

को

श्री नरेंद्र मोदी जी, भारत के माननीय प्रधान मंत्री

श्री भूपेन्द्र यादव जी, माननीय केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री

श्रीमती एन सीतारमण जी, माननीय केंद्रीय वित्त मंत्री

आदरणीय महोदय/महोदया जी

हम सभी ईपीएस 95 पेंशनभोगियों ने सोमवार को अयोध्या (यूपी) में राम मंदिर में भगवान राम लला की प्राण प्रतिष्ठा को माननीय प्रधान मंत्री और अन्य लोगों के साथ सभी पवित्र अनुष्ठानों के साथ हजारों आमंत्रित लोगों के बीच भव्य तरीके से आयोजित किया, जिससे बहुत खुशी और खुशी महसूस हुई। जय श्री राम की आवाज और रात में रोशनी से जगमगाता राम मंदिर मानव जाति के इतिहास में एक यादगार ऐतिहासिक घटना है।

रामलला का प्राण प्रतिष्ठा भाव्वय भारत का उदय है जो कल्याणकारी राष्ट्र के विकास का मार्ग प्रशस्त करता है जहां जाति, धार्मिक समुदाय की बाधाओं के पार न्याय, समानता, स्वतंत्रता और मानवता के आदर्शों का ज्ञान होता है।

समय पर उनकी समर्पित सेवा का सम्मान करते हुए माननीय प्रधान मंत्री द्वारा राम मंदिर के श्रमिकों पर फूलों की वर्षा की गई।

ईपीएस 95 पेंशनभोगियों को, राष्ट्र के श्रमिक होने के नाते, सरकार द्वारा उचित जीवनयापन योग्य पेंशन के अनुदान द्वारा राम राज्य में और अधिक देरी किए बिना राष्ट्र के विकास के लिए उनकी समर्पित सेवा का सम्मान करते हुए आर्थिक सुरक्षा प्रदान की जानी है।

यह महान घटना अतीत को याद करते हुए भारतीयों के जीवन को जीवंत बनाती है जो मानव जाति के लिए सबक है कि यह हमें मानव जीवन का धर्म सिखाता है जो सभी को जरूरतों के साथ जीने के लिए एकजुट करता है न कि अंतहीन सामग्री पर जो जीवन भर खुश नहीं रहना चाहता।

ईपीएस 95 पेंशनभोगियों की आर्थिक असुरक्षा, न्यूनतम और बुनियादी स्तर पर अनुचित और अजीविका पेंशन के साथ जीवन-यापन लागत सूचकांक (डीए) के गैर-संबंध की कमी और योग्य पेंशन योग्य सेवा के लिए रहने योग्य न्यूनतम पेंशन, जो दशकों से अनसुलझा है, के कारण वित्तीय स्वतंत्रता से वंचित हो रही है। करोड़ों की संख्या में परिवार और आश्रित बच्चों सहित 75 लाख से अधिक पेंशनभोगियों के बीच राम राज्य की सामाजिक व्यवस्था का युग लाने के लिए माननीय सरकार द्वारा निपटान किया जाना चाहिए।

माननीय सरकार ने ईपीएस 95 पेंशनभोगियों की जीवन पीड़ा को समझा है।

अब, समय आ गया है कि उन्हें अकथनीय आर्थिक असुरक्षा और जीवन-यापन लायक पेंशन के अभाव में दूसरों पर निर्भरता के मानसिक तनाव से मुक्ति मिले।

कृपया अयोध्या में राम मंदिर में राम लला की प्राण प्रतिष्ठा को माननीय सरकार द्वारा नागरिकों और वरिष्ठ नागरिकों अर्थात सरकारी मशीनरी, कानून निर्माताओं और ऐसे अन्य संस्थानों की जरूरतों का ख्याल रखते हुए वरिष्ठ नागरिकों की सुरक्षा का मार्ग प्रशस्त करें।

ज़रूरतें और चाहतें क्रमशः गरीबों और अमीरों की अलग-अलग होती हैं।

ईपीएस 95 पेंशनभोगियों की मांगें उनकी केवल उचित जरूरतों की बात करती हैं न कि जीवित रहने की सुरक्षा के लिए अनिवार्य रूप से पूरी की जाने वाली चाहतों की।

इसलिए ईपीएस 95 पेंशनभोगियों की आर्थिक सुरक्षा के अलावा हमारे पास बताने के लिए कुछ भी नहीं बचा है।

कृपया माननीय सरकार के समक्ष रखी गई मांगों के अनुसार डीए और सरकारी चिकित्सा सुविधा के साथ रहने योग्य न्यूनतम पेंशन प्रदान करके राष्ट्र के श्रमिकों का सम्मान करें, जो फूलों की वर्षा से भी अधिक महसूस किया जाएगा।

राष्ट्र शिक्षा, खाद्य आपूर्ति, स्वास्थ्य और नौकरी के अवसर सहित अन्य क्षेत्रों में सरकार की अच्छी सेवा प्रणाली चाहता है, जिसमें बीपीएल और एपीएल श्रेणी (अब पुरानी) के साथ भोजन राशन प्रणाली को समाप्त करना शामिल है, जो अतीत में एक बार किया गया था, जिसने राम की सामाजिक व्यवस्था के लिए नए युग का निर्माण किया। राज्य ताकि राष्ट्र की आर्थिक व्यवस्था सभी नागरिकों के लिए बेहतर सुरक्षित महसूस हो और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर राष्ट्र की अच्छी छवि बढ़े।

उच्च सम्मान के साथ

आपका

शामराव. जी,

राष्ट्रीय सचिव,

ईपीएस 95 पेंशनभोगी समन्वय समिति,

बीदर,

कर्नाटक।

ईमेल करें shamrawbidar308@gmail.com

फ़ोन: 9632885896

प्रतिलिपि प्रस्तुत की गई

श्रीमती हेमामालानी जी, माननीय संसद सदस्य, दयालु जानकारी और आवश्यक जानकारी के लिए